Bulletprofit

इत्तेफ़ाक़ - मन की बात नेहा के साथ

इत्तेफ़ाक़

 

"कभी कभी कुछ पाने की चाहत में हज़ारो कोशिश कर लेने के बाद भी उसे हांसिल न कर पाना और कभी कभी बिना मांगे हमे उस चीज़ का मिल जाना, शायद ये ही संजोग है और इसी संजोग से बंधा है ब्रह्माण्ड का कण कण !!" - mann-ki-baat-by-neha



रात के खाने के बाद बेटे को सुला कर खाली हो घर के बगीचे में टहलती नूर गाना गुनगुना रही थी, चेहरे पर बड़ी सी मुस्कान भरे अपने ख्यालो में गुम सी थी !! ये गाना नूर जब जब गुनगुनाती नूर का चेहरा हमेशा चमक उठता था, नूर खिल सी जाती जब ये गाना कही से सुनने को मिल जाता !! हो भी क्यों न, नूर का favourite गाना जो था ये !! favourite सिर्फ इस लिए नहीं कि नूर को ये गाना पसंद था, बल्कि favourite इसलिए क्यों कि नूर की कुछ ख़ास यादें जुडी थी इस गाने के साथ !! कुछ ख़ास यादें जिसे याद करती नूर आज भी उन्ही पलों में खो सी जाया करती थी !!



बस फिर क्या था, वही गीत गुनगुनाती नूर आज  भी बस खोई थी मीठे पलों में !! वो पल जब नूर की शादी भी नहीं हुई थी । जब एक दिन नूर कुछ दिनों के लिए अपनी मासी के घर दूसरे शहर गयी हुयी थी, जहा मासी ने नूर को अपना शहर अच्छे से घुमाने का जिम्मा उठाया था !! नूर मासी के बहुत करीब थी, यही वजह थी की नूर को जब भी कॉलेज से छुट्टिया होती नूर हर बार मासी के यहाँ ही जाना पसंद करती थी !!



इस बार तो मासी एक अलग शहर में शिफ्ट भी हुई थी मौसा जी ने नौकरी जो बदल दी थी दूसरे शहर आ कर !! बस मासी नया शहर दिखाने के लिए नूर को रोज़ घुमाती फिराती !! एक दिन नूर और मासी जब मॉल गए थे तो मॉल में second फ्लोर के सेक्शन में बहुत भीड़ सी जमा थी !! दूसरे लोगो से पता चला कि इस शहर का सबका पसंदीदा सिंगर आज मॉल में एक शो करने  के लिए आये हुए है !! 



नूर और मौसी ने सोचा कि क्यों न इतना happening शो देखा ही जाए, बस जब नूर और मासी सैकंड फ्लोर पहुंचे तो पता चला कि शो फुल हो चूका है, टिकट्स कल के लिए मिल सकती थी पर आज के लिए संभव नहीं था !! मासी ने बिना सोचे झट से अगले दिन की टिकट्स ले लेना ही सही समझा !!



"जिस सिंगर के लिए इतनी भीड़ सी जमा थी आखिर देखें तो हमे वो सिंगर भाता है कि नहीं" - नूर ने मासी को मज़े लेते कहा और मासी भी जोर से हस दी।

नूर तब कहा जानती थी कि उसके भाग्य उसी सिंगर से जुड़े है !! रॉक-जय नाम के इस सिंगर का नाम जब नूर ने घर आ कर सोशल मीडिया पर सर्च किया तो सोशल मीडिया पर रॉक-जय के इतने फैंस की लिस्ट देख नूर हैरान हो गयी !! उसकी एक एक फोटो पर लाइक्स और कमैंट्स की बरसात सी होती देख नूर सोच रही थी कि बन्दे में कुछ तो बात होगी !! नूर को कल का इंतज़ार था !!  

 

 




नूर को लाइव शोज देखना बहुत पसंद था, नूर अगले दिन मासी के साथ समय से मॉल पहुंच गयी !! बड़े से हॉल में शो का आयोजन किया गया था !! शो शुरू होने को था और लोगो की तालियों की गूंज इतनी थी कि लोगो को रॉक-जय कितना पसंद है ये महसूस किया जा सकता था !! 


बस कुछ ही मिंटो में स्टेज पर बैंड के साथियो ने म्यूजिक दिया और एक स्मार्ट सा दिखने वाला लड़का स्टेज पर माइक लिए आ खड़ा हुआ !! हॉल में बैठी ऑडियंस ताली बजाते खड़ी हो बस रॉक-जय का नाम पुकार रही थी !! ऑडियंस में अलग सी ख़ुशी थी रॉक-जय को देख कर !! रॉक-जय ने जैसे ही गाना शुरू किया, सच्च नूर भी खींची चली गयी उस जादू में जो रॉक-जय की आवाज में था !!


हॉल में ऑडियंस कभी रॉक-जय के फोटो लेती तो कभी गाने पर झूम उठती !! मासी और नूर भी खूब इम्प्रेस थे अब तो !! 

 




"मासी, सच्च बन्दे में बात तो है" - नूर ने मासी से खिलखिलाते हस्ते हुए कहा।
"हाँ तो बात आगे बढाए रिश्ते की" - मासी ने मजाक में नूर को छेड़ते कहा।


नूर और मासी अपने joke पर हस पड़ी !! शो के खत्म होने के बाद जब कई लोगो ने रॉक-जय से ऑटोग्राफ लेने के लिए भीड़ सी जमा कर ली, तो वही नूर दूर खड़ी अपनी बारी का इंतज़ार कर रही थी !! रॉक-जय की नज़र बार बार भीड़ से हटती हुई कोने में खड़ी नूर पर पड़ रही थी !! नूर और रॉक-जय की नज़रे कई बार टकराई हो जैसे !! 



हाथो में एक डायरी पैन पकडे नूर खड़ी थी जिससे रॉक-जय को इस बात का साफ़ तौर पर अंदाजा था कि इंतज़ार तो ऑटोग्राफ का ही हो रहा है !! पर इतनी भीड़ देख नूर ने कुछ देर इंतज़ार के बाद निकल जाना ही सही समझा और नूर उदास हुए मासी के साथ निकल गयी !! रॉक-जय को नूर के चेहरे की उदासी खटक सी गयी थी जैसे !!  पर नूर और मासी को एहसास ही नहीं था कि ये अंत नहीं बल्कि एक शुरुवात थी नूर और रॉक-जय के रिश्ते की !! नूर और जय के भाग्य तो सच्च में जुड़े हुए थे !! 


पर कैसे........... !!


आखिर ऐसा क्या हुआ होगा जो आज नूर और रॉक-जय हमसफ़र है, जीवनसाथी है.........!! एक साधारण सी लड़की की जिंदगी में बड़े से सेलिब्रिटी ने आखिर दस्तख कैसे दी होगी !! 

जानने के लिए जुड़े रहे mannkibaatneha के साथ.................आगे की कहानी भाग 2 में......................।

Thank You..........

 

कहानी के दूसरे भाग को पढ़ने के लिए निचे दिए लिंक पर क्लिक करे................।
इत्तेफ़ाक़ - मन की बात नेहा के साथ (पार्ट-2)

 

disclaimer : इस कहानी के सभी पात्र (नूर, रॉक-राज, मासी और अन्य सभी चरित्र) काल्पनिक है | यहाँ पर लिखी सभी कहानिया किसी भी धर्म, मानवता के विपरीत नहीं है | यह केवल एक मन की बात है जो केवल readers को entertainment (मनोरंजन) करने के लिए है | यहाँ जो भी content है उसके सारे copyright mannkibaatbyneha के है |


Post a Comment

10 Comments

हालातों की सीख़ - मन की बात नेहा के साथ